सोया प्रोटीन क्या है और कितना लेना चाहिए

सोया प्रोटीन क्या है और कितना लेना चाहिए

सोया प्रोटीन का इस्तेमाल इंसान 5,000 सालो से कर रहा है क्योंकि यह एक वेजिटेरियन प्रोटीन है और इसमें बहुत ज्यादा मात्रा में प्रोटीन होता है और जितना प्रोटीन एनिमल मीट, अंडे और भी जितने नॉन वेजिटेरियन खाने में प्रोटीन होता है उसके बराबर ही सोया में प्रोटीन होता है इसका प्रोटीन किसी भी नॉनवेजिटेरियन खाने से कम नहीं है इसका प्रोटीन बराबर नॉनवेजिटेरियन प्रोटीन से और सोया प्रोटीन सोयाबीन के अंदर होता है और इसको वे लोग इस्तेमाल करते हैं जो कि नॉन वेजिटेरियन खाना नहीं खा सकते सोयाबीन एक दाल होती है .

जिसके अंदर कोलेस्ट्रॉल की मात्रा जीरो होती है Saturated Fat भी कम होता है यह अकेला वेजीटेरियन सोर्स है जिसमें कि 8 के 8 Essential Amino Acids है और सोयाबीन एक बहुत अच्छा फूड सोर्स है जिसके अंदर फाइबर, कैल्शियम, आयरन, जिंक और बी विटामिंस है वेजीटेरियनस के लिए तो वेजिटेरियन को अच्छी मात्रा में सोयाबीन खाना चाहिए सोयाबीन को आप एनिमल प्रोटीन की जगह पर ले सकते हैं और सोयाबीन खाने की और भी बहुत सारे फायदे होते हैं लेकिन इनके फायदे जानने से पहले आपको उनके बारे में कुछ बातों को जानना होगा जैसे कि

  • Isoflavones क्या है – Isoflavones वह फाइटोएस्ट्रोजनस है जो कि सोया में होते हैं
  • Phytoestrogens क्या है – Phytoestrogen एक प्लांट कंपाउंड होता है जिसमें हार्मोन के जैसे एक्टिविटी होती है आपके शरीर के अंदर
  • Phytochemical क्या है – जो केमिकल प्लांट में मिलता है उसे Phytochemical कहते हैं
  • Lignan क्या है – Lignan एक फाइटोएस्ट्रोजन है जो ग्रींस में मिलता है

सोयाबीन लेना हार्ट के लिए डायबिटीज के लिए मोटापे के लिए हेल्थ बेनिफिट के लिए बहुत अच्छा है और इससे आप बहुत सी चीजों को कंट्रोल कर सकते हैं जैसे कि शुगर लेवल को मोटापे को और भी कई चीजों को आप ही से कंट्रोल कर सकते हैं और एक और फायदा इसका है वह है Cancer prevention जेनेस्टीन नाम का एक फाइटोकेमिकल है.

सोए के अंदर जो कि Cancer का Reduce करता है Breast Cancer को ज्यादा ध्यान दिया गया था लेकिन अब देखा गया है कि Prostate Cancer का रिस्क भी यह काम करता है आदमियों में 80% मर्दों में 80 की उम्र तक बीच में कहीं ना कहीं Prostate Cancer हो जाता है तो इस Prostate Cancer का रिस्क कम होना बहुत अच्छी बात है तो इसीलिए यदि आप कैंसर के बचाव के लिए सोयाबीन को इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको लगभग आधा कप सोयाबीन 1 दिन में लेना चाहिए.

यह भी देखा गया है कि ये जो Isoflavones यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं कैंसर के बचाव के लिए और यदि आप बचपन से ही खाने में सोयाबीन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको Breast Cancer, और Ovarian Cancer होने का खतरा भी नहीं रहेगा और जिन लोगों को कैंसर है और वे लोग सोयाबीन इस्तेमाल कर रहे हैं तो उनके लिए यह बहुत ही लाभदायक है अगर आप प्रोसैस्ड सोयाबीन लेते हैं जैसे कि soy protein isolate, Soy protein Concentrate का जो पाउडर है उससे बेहतर है कि आप Whole Soybean खाए यह आपके लिए ज्यादा अच्छी रहेगी और यदि आप इसे एक दवाई के तौर पर या गोली के तौर पर ले रहे हैं तो यह आपके लिए Recommended नहीं है यह आपको तभी फायदा करेगी जब आप इसे अपने खाने में इस्तेमाल करेंगे

सोया प्रोटीन कितना लेना चाहिए

तो इन सब फायदे के लिए आपको 1 दिन में 25 ग्राम सोया प्रोटीन की आवश्यकता होगी इन सब लाभ के लिए और मान लीजिए आपको दूध से एलर्जी है या गैलेक्टोसेमिया है तो ऐसे लोगों के लिए भी चाहे बच्चे हो या बड़े हो इनके लिए भी अच्छे सोर्सेज है बी विटामिंस के लिए कैल्शियम के लिए क्योंकि वेजिटेरियन आदमी को इन चीजों की कमी हो जाती है तो यह सोया प्रोटीन इन सब चीजों की भी पूर्ति करता है तो इसीलिए आपको सोया प्रोटीन से संबंधित खाना खाना चाहिए

सोया प्रोटीन कहां – कहां से मिलता है

सोया प्रोटीन आपको अलग-अलग प्रोडक्ट और अलग-अलग चीजों से मिलता है लेकिन हर एक प्रोडक्ट में एक ही मात्रा में प्रोटीन नहीं होता है और सबसे ज्यादा प्रोटीन होता है Soy Flour में सोयाबीन के चून में, Whole Soybean, Tofu or soy milk इनमें से सबसे कम प्रोटीन soy milk में होता है और उसके बाद पाउडर में होता है पाउडर में भी कम प्रोटीन होता है पाउडर इतना ज्यादा इफेक्टिव नहीं होता क्योंकि तो क्या कर बात करें Soy protein isolate के तो इसमें लगभग 90% तक प्रोटीन होगा और बाकी इसमें थोड़ा बहुत कार्बोहाइड्रेट होगा थोड़ा बहुत फैट होगा .

यदि हम बात करें soy protein concentrate के तो इसमें लगभग 70% प्रोटीन होता है और यदि हम इसकी बायोलॉजिकली वैल्यू कि बात करें की यह पाउडर हमारे शरीर में जाकर कितना काम करता है तो जो Soy protein isolate है या soy protein concentrate इनकी बायोलॉजिकल वैल्यू मात्र 74% है और जो Whole Soybean है उसकी बायोलॉजिकल वैल्यू 96% है soy milk की बायोलॉजिकल वैल्यू 91% है तो जो Whole Soybean है उसकी थोड़ी बहुत कम परसेंटेज है.

लेकिन उसकी बायोलॉजिकल वैल्यू बहुत ज्यादा है तो इसलिए आप अपने खाने में ज्यादा मात्रा में सोयाबीन खा सकते हैं तो यदि आप बॉडी बिल्डिंग करते हैं या जिम में जाते है तो आप Soy protein isolate या soy protein concentrate भी ले सकते हैं और यदि आप Whole Soybean लेना चाहते हैं तो वह भी आप 150 से 200 ग्राम तक एक दिन में ले सकते हैं और और अगर आप जिम नहीं जाते हैं तो 50 से 100 ग्राम सोयाबीन एक दिन में खा सकते हैं.

इस पोस्ट में आपको सोयाबीन में प्रोटीन का प्रतिशत होता है सोया प्रोटीन पाउडर सोयाबीन खाने के नुकसान सोयाबीन प्रोटीन सोयाबीन में प्रोटीन की मात्रा कितनी प्रतिशत होती है के बारे में बताया गया है अगर इसके अलावा आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके जरूर पूछें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.